तुलसी भरोसे राम के, निर्भय हो के सोए | अनहोनी होनी नही, जो होनी हो सो होए ||

Similar Quotes