साधु और रोडवेज का ड्राइवर | A Monk and Driver

Riya Jain Riya Jain October 10, 2018 0 Comments 158 Views

एक बार एक साधु मर गये, वो स्वर्ग के वेटिंग लाइन में खडा थे।
उनके आगे एक काला चश्मा ????, जींस, लेदर जैकेट पहन कर एक जाटव खडा था।

धर्म राज जाटव से : कौन हो तुम?
जाटव: मैं U P रोडवेज का ड्राइवर हूँ।
धम॔राज : ये लो सोने की शाल और अंदर जाकर गोल्डन रूम ले लो!

धम॔राज साधु से : कौन हो तुम?
साधु : मैं साधु हूँ, और 40 सालो से लोगों को भगवान के बारे में बताया करता था!
धम॔राज : ये लो सूती वस्त्र और अंदर जा कर छप्पर में अपना स्थान करो।

साधु : भगवान, ये गलत है ये तेज गति से गाड़ी चलाने वाले को सोने की शाल और जिसने पूरा जीवन भगवान का ज्ञान दिया उसे सूती वस्त्र?
धम॔राज : परिणाम मेरे बच्चे परिणाम..???? जब तुम ज्ञान देते थे उस वक्त सभी भक्त सोते रहते थे।
लेकिन जब यह जाटव बस को तेज गति से चलाता था तब सब लोग सच्चे मन से भगवान को याद करते थे।